विकास के एजेण्डे ओर चुनावी वादों से मुकर गए मोटाभाई….. एक दिन में दो आदेश, ले आये रातो रात चौहान सा को सीएमओ बनवाकर… अब नही होगा विकास जनता ने भी छोड़ी आस, लाखों का बगीचा आज भी उजाड़…..

By | February 16, 2022

पेटलावद से मनोज पुरोहित की रिपोर्ट

 

पेटलावद| नगर विकास के लिए बनाई हुई संस्था नगर परिषद का कार्यकाल आगामी कुछ महीनों में पूरा होने जा रहा है| पिछले साढे 4 वर्षों में नगर परिषद के द्वारा पेटलावद के नगर वासियों को जिस प्रकार से परेशान और प्रताड़ित किया गया है यह हर कोई व्यक्ति जानता है|

नही कर पाए विकास….

पेटलावद नगर परिषद में लगातार विवादों शिकायतों और जिस स्थिति में आज से 5 वर्ष पूर्व परिषद के द्वारा वर्तमान परिषद को कमान सौंपी गई थी उसे पूरा नगर पिछड़ने की स्थिति में आकर खड़ा हुआ है विकास की जगह हर तरफ भ्रष्टाचार और विवाद है| इन परिस्थितियों में लगातार मीडिया के द्वारा खबर प्रकाशित की जा रही है और आम जनता के द्वारा भी अपने विभिन्न परेशानियों को लेकर नगर परिषद, से लेकर एसडीएम और कलेक्टर सहित सीएम और हेल्पलाइन पर शिकायत की जा रही है और इन सभी अव्यवस्थाओं के साथ ही नगर में सरकार के द्वारा जारी की गई जनकल्याणकारी योजनाओं में रुचि नही लेने के चलते पूरी गाज प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा सीएमओ मनोज कुमार शर्मा के ऊपर गिराते हुए गत दिनों भोपाल के नगरिय प्रशासन विभाग के आयुक्त के हस्ताक्षर से एक आदेश 14फ़रवरी को जारी हुआ था जिसमें मनोज कुमार शर्मा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया था।

24 घण्टे भी नही रहा प्रभार….

इसके पश्चात पूरे नगर में जहां चर्चाओं का दौर गर्म था उसी दौरान एक खबर मंगलवार को यह भी चली कि पेटलावद में प्रशासनिक अधिकारियों की निर्देश पर नायब तहसीलदार सारंगी परवीन अंसारी को मुख्य नगर परिषद अधिकारी पेटलावद का प्रभार दिया गया था।

नया घटनाक्रम….

पूरे घटनाक्रम को 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि मंगलवार शाम को पुनः एक खबर प्रकाश में आई जिसमें नगरिय प्रसाशन विभाग इंदौर के सयुंक्त संचालक के हस्ताक्षर से ही 14 फरवरी द्वारा जारी किये एक आदेश के अनुसार पेटलावद के वर्तमान राजस्व निरीक्षक अशोक कुमार चौहान को पेटलावद के सीएमओ का प्रभार भी दे दिया गया है|

हाथोहाथ करवा लिया आदेश….

इस इस तरह से इस गरीब देश में एक टेबल से दूसरी टेबल पर किसी फाइल या आदेश को पहुंचने में ही कई दिन लग जाते हैं वही भोपाल से चले हुए आदेश भोपाल से चले हुए एक ही दिन के आदेश का खंडन भी उससे अधीनस्थ कार्यालय के द्वारा खंडन करते हुए पुनः आदेश जारी कर दिया जाना नगर में जन चर्चाओं का विषय बना हुआ है।

लग चुके है पहले भी आरोप…..

खैर यह तो हुई विभागों की बात सबसे बड़ा मुद्दा पेटलावद में यह है कि आज से लगभग 15 वर्ष पूर्व पेटलावद में भ्रष्टाचार की गंगा जमुना बहा कर बगीचे के नाम पर लाखों रुपए का भ्रष्टाचार करने और कई प्रकार की हेराफेरी करने का आरोप तत्कालीन प्रभारी सीएमओ अशोक कुमार चौहान और वर्तमान अध्यक्ष मनोहर भटेवरा और तत्कालीन अध्यक्ष राधा देवी भटेवरा के ऊपर लग चुके हैं जिसमें कई प्रकार की जांच भी शुरू होकर वर्तमान तक पेंडिंग है ।

नही खुला आमजन के लिये 1 दिन भी बगीचा….

और इस बगीचे को लेकर पिछले 4 वर्षों से लगातार विवाद चलता रहा है और इतने वर्षों में एक बार भी यह बगिचा आमजन या बच्चों के लिए 1 दिन भी नहीं खुला है जो कि पूर्ण रूप से भ्रष्टाचार की खुली गवाही दे रहा है। वही इसके लिये शिकायते वर्तमान कलेक्टर के पास भी पेंडिंग है।

पुरानी टीम का हुआ गठजोड़…..

अब पुनः उसी टीम के साथ मोटा भाई के द्वारा अशोक कुमार चौहान को रातों-रात सेटिंग करके पुनः पेटलावद सीएमओ का चार्ज दिलवाने का आदेश जारी करवाया है। जिससे पेटलावद की जनता के लिए बची कुची विकास की आस आज समाप्त होती दिखाई दे रही है ।

वादे से मुकर गये मोटा भाई….

उल्लेखनीय है कि नगर की जनता के साथ मोटा भाई ने छलावा किया है क्योंकि आज से 4 वर्ष पूर्व जब नगर परिषद के चुनाव की प्रक्रिया चल रही थी और अपने चुनावी एजेंडे में नगर विकास के साथ मोटा भाई उर्फ मनोहर लाल भटेवरा के द्वारा नगर के कई *गणमान्य नागरिकों को इस बात के लिए आश्वस्त किया था कि कभी भी पेटलावद में किसी भी प्रकार से अशोक कुमार चौहान को सीएमओ के रूप में वापस लेकर नहीं आएंगे*

लम्बी सेटिंग से सबकी बोलती बंद…..

लेकिन अध्यक्ष जी ने पेटलावद की जनता से किए गए अपने चुनावी एजेंडे को पूरा करने में तो कोई रुचि नहीं दिखाई साथ ही साथ पेटलावद की जनता से किए गए मौखिक वादे को भी दरकिनार करते हुए पूरी प्रशासनिक व्यवस्था को दरकिनार करते हुए कलेक्टर, एसडीएम ओर प्रशासन के अधिकारियों के आदेशों की अवहेलना करते हुए लंबी सेटिंग बिठाकर रातों-रात अशोक कुमार चौहान का प्रभारी सीएमओ पेटलावद के रूप में आदेश बनवा कर लाना पूरे पेटलावद में नगर में जन चर्चा का विषय है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.