विधानसभा में गूंजा REET का मुद्दा:गहलोत ने वसुंधरा से कहा- बैठकर ही तख्ती दिखा देते तो हम मान लेते, घंटेभर खड़े क्यों रहे?

By | February 9, 2022

विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व सीएम वसुंधरा राजे की सदन के वेल में मुलाकात हुई। राज्यपाल के सदन से जाने के बाद गहलोत वसुंधरा राजे के पास पहुंचे। गहलोत ने वसुंधरा राजे से कहा कि आप लोग बैठे-बैठे ही ये तख्तियां दिखा देते तो हम विरोध मान लेते, घंटे भर खड़े रहने की क्या जरूरत थी?

इस मुलाकात के दौरान कांग्रेस ​और बीजेपी के विधायक भी राजे के पास खड़े थे। दोनों नेताओं ने लाइट मूड में बातचीत की और हंसी-मजाक का दौर भी चला। लंबे समय बाद सदन के भीतर यह सीन देखने को मिला। आज की यह मुलाकात सियासी हलकों में चर्चा का विषय बनी हुई है। राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान आज बीजेपी विधायकों ने पूरे समय खड़े रहकर रीट की सीबीआई जांच की मांग को लेकर विरोध जताया था और तख्तियां लहराई थी।

 

इससे पहले अपने अभिभाषण में राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि राजस्थान कोरेाना मैनेजमेंट में सर्वश्रेष्ठ प्रदेश है। राजस्थान कोविड मैनेजमेंट में रोल मॉडल बनकर उभरा है, इस आपदा से सरकार ने बेहतर तरीके से निपटा है। किसी को भूखा नहीं सोने दिया। कोविड काल में 33 लाख परिवारों को सहायता दी। 1815 करोड़ खर्च किए। प्रवासी मजदूर जब पलायन कर रहे थे, तब राज्य सरकार ने मजूदरों को वाहन लगाकर गंतव्य तक पहुंचाया। रोज 1 लाख कोविड टेस्ट करने की क्षमता विकसित की।

राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान ही भाजपा विधायकों ने REET पेपर लीक को लेकर सदन में तख्तियां लहराई और पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की।

राज्यपाल ने कहा- आप बैठ जाएं तो अच्छा रहेगा
अभिभाषण के दौरान राज्यपाल ने विरोध कर रहे बीजेपी विधायकों से अपनी सीटों पर बैठने का आग्रह किया। राज्यपाल ने कहा कि आप बैठ जांएगे तो बेहतर रहेगा। उन्होंने कहा कि सदन चलता रहेगा, आप डटकर विरोध करें, इसमें कोई हर्ज नहीं है। राज्यपाल के आग्रह के बाद भी बीजेपी विधायकों ने विरोध जारी रखा।

दूसरे राज्यों के मरीज राजस्थान आते हैं
राज्यपाल ने कहा कि राजस्थान में मेडिकल सुविधाएं बेहतर हुई हैं। हर जिले में मेडिकल कॉलेज की तर्ज पर ही हर जिले में नर्सिंग कॉलेज और अच्छी ट्रैनिंग का फैसला किया है। दूसरे राज्यों के मरीज राजस्थान में इलाज कराने आते हैं। यह राजस्थान के लिए गर्व की बात है। सरकार ने बहुत से नवाचार किए हैं। सीएम चिरंजीवी स्वस्थ्य बीमा योजना शुरू की गई है। महात्मा गांधी अहिंसा शांति प्रकोष्ठ शुरू किया है। सिलिकोसिस के इलाज जांच की व्यवसथा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.